मराठी इंग्लिश सेक्सी पिक्चर

केस दाट होण्यासाठी घरगुती उपाय स्वागत तोडकर

केस दाट होण्यासाठी घरगुती उपाय स्वागत तोडकर, दीदी ने भी चलाना सीख लिया तो कभी मे ले जाता और कभी वो, जब मे चलाता तो वो मेरे से चिपक कर बैठती और अपने नये विकसित हो रहे उरोजो को मेरी पीठ से सहला देती. बाबूजी दरवाजे के पीछे से ये सारी बातें सुन रहे थे, उनसे भी रहा नही गया और अंदर आते हुए बोले- सच कहा बहू तुमने..

मेरे किस करते ही, पहले तो वो सिहर उठी, और फिर हँसते हुए वेरी गुड मॉरिंग जानू कहा और कसमसा कर मुझे छोड़ने के लिए रिक्वेस्ट करने लगी… भाभी की हरकतें बढ़ती ही जा रही थी, एक बार तो उन्होने अपनी गान्ड को खुजाने के बहाने ऊपर को उचकाया, और सीधे अपने गान्ड के छेद को मेरे लंड के ऊपर ही टिका दिया…

ऐसी ही हसी मज़ाक करते हुए.. में उन्हें गोद में उठाए बाथरूम से बाहर लाया और आकर पलग पर बैठ गया, वो अभी भी मेरी गोद में ही थी….. केस दाट होण्यासाठी घरगुती उपाय स्वागत तोडकर मेने उसे झिड़कते हुए कहा – फिर भी थोड़ी सेवा तो करनी पड़ेगी इसकी, अगर अपनी चूत को मेवा खिलानी है तो..

छोटी बच्ची की चूत

  1. कितनी ही देर वो दोनो एक-दूसरे के आलिंगन में क़ैद वहीं यूँही खड़े रहे, मोहिनी का तो मन ही नही हो रहा था उनको छोड़ने का.
  2. आख़िर में घोड़ी बनाकर उसकी मोटी-मोटी गान्ड को दबाकर चोदने में मुझे सबसे ज़्यादा मज़ा आया, और इसी पोज़िशन के बाद हमने अपनी चुदाई ख़तम की… स्थानी सेक्सी फिल्म
  3. मेने उसकी सारी की गाँठ खोल दी, और एक-एक कर के उसके शरीर से सारे गहने नोच डाले, अब वो ब्लाउज और पेटिकोट में थी, मेने अपना लंड बुआ की चूत से निकाला, पच की आवाज़ के साथ वो बाहर आ गया, उसके पेटिकोट से अपने लंड को पोंच्छ कर करवट लेकर मे सो गया………………
  4. केस दाट होण्यासाठी घरगुती उपाय स्वागत तोडकर...फिर अचानक दीदी उछल्कर मेरी गोद में आ गई, अपनी पतली-2 लंबी बाहें मेरे गले में लपेट दी और पैरों से मेरी कमर को लपेट कर मेरे सीने से लिपट गयी… रीना – यहाँ का टूर डिसाइड होते ही रागिनी बहुत एक्शिटेड थी, मेने उससे इसका कारण पूछा तो वो जोश-जोश में कह गयी… कि ये साला अंकुश अपने आप को बहुत बड़ा हीरो समझता है…
  5. अब ये हमारा रोज़ का ही रूटिन सा बन गया था, दिन में एक बार कम से कम मे भाभी का चुम्मा लेता, बदले में वो भी मेरे गाल काट कर अपने होठों से सहला देती, कभी-2 तो मे अपना सर या गाल या फिर मुँह उनके स्तनों पर रख कर रगड़ देता. लेकिन कुच्छ अपना भी तो भला सोचिए, ये 25 लाख की रिकवरी का नोटीस है, कुच्छ आप भी कमा लो, और एक-दो % हमें भी दिलवा दो, मामला यहीं रफ़ा दफ़ा हो जाएगा…

मां बेटी के साथ

उनकी चूत से निकलने वाले रस से मेरी जांघें और पेट तक गीला होने लगा, फिर जब भाभी की मस्ती चरम पर पहुँची,

वो कुछ शांत हुई, तो एक और फाइनल स्ट्रोक लगा कर बॉल बाउंड्री के बाहर…. बोले तो जड़ तक लंड रागिनी की गान्ड में फिट कर दिया… घर आकर मेने उसके सास-ससुर को बताया कि उसका इलाज़ तो हो गया है.., लेकिन कुछ दिनो तक हर हफ्ते उसे ले जाना होगा…

केस दाट होण्यासाठी घरगुती उपाय स्वागत तोडकर,मेरी तो सिसकी ही निकल गयी और अपनी आँखे बंद करके आनंद सागर में तैरने लगा… फिर भाभी ने उसे अपने मुँह में लेकर चूसना शुरू किया…

मेने अनमने भाव से अपनी आँखें खोली, सरक कर बेड पर सिरे की तरफ बैठ कर जमहाई लेते हुए कहा - अरे मालती जी ! इसकी क्या ज़रूरत थी…?

उतरो.. उन्होने आदेश सा दिया… मे बाहर आ गया.. तो उन्होने सीट का लीवर उठाकर सीट को थोड़ा और पीछे को कर दिया..महाराष्ट्रातील जलविद्युत प्रकल्प

और मेरे गले पर किस कर के मेरे कान में फुफुसा कर बोली – बिट्टू के पापा ! बहुत दिनो में हाथ आए हो, आज नही छोड़ूँगी तुम्हें… अरे.. ! ये तो बहुत अच्छी बात है, लेकिन ऐसे में कैसे नींद आ सकती है, शरीर में कीटाणु लगे हुए हैं, चलो उठो ! पहले नहा के फ्रेश हो जाओ, कुच्छ खा पीलो, फिर देखना अपनी भाभी के हाथों का चमत्कार, कैसे शरीर की थकान छुमन्तर करती हूँ.. चलो.. अब उठो..!

मुझे चुप देख कर वो बोली – देख भाई.. तू चिंता ना कर, मे किसी को कुछ नही बताउन्गी.. तू ना थोड़ा सा हमारे ऊपर भी नज़रें इनायत कर्दे बस…

भाभी – देवर्जी ! मेने कितनी बार कहा है.. कि जब क्लच दबाओ तो एग्ज़िलेटर नही देना है….. क्या बुलेट भी ऐसे ही चलाते हो..?,केस दाट होण्यासाठी घरगुती उपाय स्वागत तोडकर मेरी बात मानकर निशा ने लंड मूह से बाहर निकाला… इतनी देर की चुसाई के बाद उसका सुपाडा लाल सुर्ख, फूल कर लालू की लालटेन के शीशे की तरह हो गया…

News